धरती माँ कि सेहत के लिए जैविक खेती करे

News Paper Cutting

ग्रामो में सेनीटाईजेशन


कोरोना महामारी में कैसे स्वास्थ्य रखे ठीक


सफलता की कहानी


सफलता की कहानी गोपाल कुशवाह ग्राम तिंदवाड़ा तह बनखेड़ी जिला होशंगबाद के उन्नत किसान जिन्होंने कृषि विज्ञान केंद्र गोविंदनगर के मार्गदर्शन में सब्जी फसलो का उत्पादन कर लाभान्वित हुए है |

चेतावनी टिड्डी दल से


मक्का की फसल में फॉल आर्मी वर्म कीट के प्रबंधन हेतु सलाह


प्रबंधन: · मक्का के साथअंतरवर्ती दलहनी फसलें (अरहर, मूंग अथवा उइद) लगायें| · पक्षियों के बैठने के बैठने के लिए T" आकार की खूटियां 30 दिनकी अवस्था तक100 खूटी/एकड़ की दर सेल गायें| · गेंदा या सूरजमुखी ट्रेप फसल के तौर पर मक्के के खेत के चारों और लगायें। · खेत कि साफ सफाई का ध्यान रखें एवं संतुलित मात्र में उर्वरकों को प्रयोग करें, विशेषकर नत्रजन अधिक न हों। · हाथ से इल्ली एवं अण्डों के समूह को नष्ट करें। · प्रारंभिक अवस्था में लकड़ी का बुरादा, राख अथवा बारीक रेत को पोंगली में डालें। · नर वयस्क कीट को नियंत्रण में करने के लिए 15 फेरोमोन प्रपंच/एकड़ की दर से लगायें · प्राकृतिक शत्रुओं की संख्या बढ़ाने के लिए अंतरवर्ती दलहनी फसलें साथ में लगायें तथा पुष्पीय पोधे (सूरजमुखी) आस-पास लगायें। · अंड परजीवी ट्राईकोग्रामाप्रोटी ओसम अथवा टेलीनोमसरीमसको50,000 प्रति एकड़ की दर से प्रति सप्ताह विमोचित करें। · जैविक कीटनाशी मेटाराइजियम एनिसोप्ली अथवा बेवेरिया बेसियाना का छिडकाव करें। · रासायनिक कीटनाशी थायोमेथाक्सम12.6%+ लेम्डासाईहेलोथ्रिन9.5% या स्पईनोटेरम 11.7% का छिडकाव करें

कृषि विज्ञान केंद्र गोविंदनगर होशंगाबाद के वॉज्ञानिको द्वारा प्रक्षेत्र भ्रमण


कृषि वैज्ञानिको की सोयाबीन, मक्का एवं धान की फसल हेतु सलाह कृषि विज्ञान केंद्र गोविंदनगर, जिला होशंगाबाद द्वारा पिपरिया ब्लोक में ग्राम खैरीकला, बरुआढाना, तारोंन कला में नैदानिक प्रक्षेत्र भ्रमण किया गया जिसमे खरीफ में लगी हुई फसलो सोयाबीन, मक्का, धान फसलो का निरिक्षण किया गया इस दौरान सोयाबीन फसल में येलो मोजेक (पितसिरा) रोग देखा गया जिसके लिए कृषि विज्ञानं केंद्र के कीट वैज्ञानिक ब्रजेश कुमार नामदेव ने किसानो को बताया की येलो मोजेक रोग सफ़ेद मक्खी के द्वारा फ़ैलता है जो की एक विषाणु जनित रोग है | इसके प्रबंधन के लिए ब्रजेश कुमार नामदेव ने किसानो को सलाह दी की प्रभावित पौधो को उखाड़कर जमीं में गड़ा दे एवं सफ़ेद मक्खी के प्रबंधन हेतु कीटनाशी थायोमेथाक्साम 25WG को 100 ग्राम प्रति एकड़ की दर से या एसिटामाईप्रेड 50 WP की 50 ग्राम प्रति एकड़ की दर से छिडकाव करे | भ्रमण के दौरान मक्का की फसल में कही कही फाल आर्मी वर्म कीट का प्रकोप देखा जा रहा है जिसके लिए नामदेव जी ने बताया की फाल आर्मीवर्म कीट के प्रबन्धन के लिए 15 फेरोमान ट्रेप प्रति एकड़ की दर से लगाये एवं “T” आकार की खुटियाँ 100 प्रति एकड़ लगवाये इसके अलावा जैविक कीटनाशी मेटाराइजियम एनिसोप्ली अथवा बेवेरिया बेसियाना 1 लीटर प्रति हेक्टेयर का छिडकाव करे एवं रासायनिक कीटनाशी थायोमेथाक्सम 12.6%+ लेम्डासाईहेलोथ्रिन 9.5% या स्पईनोटेरम 11.7% का छिडकाव करें। साथ ही पादप प्रजनक वैज्ञनिक डॉ देवीदास पटेल ने धान की फसल में खरपतवार प्रबंधन हेतू मेटसल्फयूरॉन मिथाइल +क्लोरीम्यूरॉन 20% 4 ग्राम प्रति हेक्टेयर की दर से छिडकाव की सलाह दी

समाचार पत्र


प्रक्षेत्र भ्रमण के दौरान कृषि वैज्ञनिको ने किया फसलो का निरिक्षण


वेरोजगार युवाओं को रोजगार के लिए कृषि विज्ञान केंद्र के बढ़ते कदम


महिला दिवस पर हुए कार्यक्रम


काला चावल की खेती बनखेडी में


10 दिवसीय व्यावसायिक प्रशिक्षण


वेरोजगार को बाँटे कड़कनाथ


खाद्य दिवस


किसानो को बांटे मछली बीज


कृषि विज्ञान केंद्र गोविंदनगर ने किया विश्व मृदा दिवस पर कृषक संगोष्ठी हुआ आयोजन


बीज उत्पादन


कम जगह में अनेको प्रकार की सब्जी ले सकते है किसान


महिला किसान दिवस


न्यास में पधारे म.प्र.शासन के कृषि मंत्री


kvk में पधारे उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण मंत्री श्री भारत कुशवाह जी


आज भाऊसाहब भुस्कुटे जी के पुण्यतिथि के अवसर पर कृषि विज्ञान केंद्र में शाम 5 बजे kvk में पधारे उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण मंत्री श्री भारत कुशवाह जी उन्होंने पूरे परिसर में संचालित गतिविधियों का अवलोकन किये अंत मे केंद्र में आये उद्यानिकी किसान बंधुओ को संबोधित करते हुए कहा कि आने वाले समय सब्जी एवं फल से जुड़े किसान बंधुओ का है । प्रत्येक उत्पादन का प्रसंस्करण इकाई खोल जाएगा जिससे किसान बंधुओ के आय दुगुना की जा सके । केंद्र से जुड़कर जो किसान बंधु अच्छे उत्पादन कर रहे है उनको मंत्री जी द्वारा सम्मान की किया गया ।

महिला दिवस में संगोष्ठी का आयोजन


"कोविड 19 महामारी में बच्चो के मानसिक एवं शारीरिक विकास में माताओं की भूमिका"


जल शक्ति अभियान


भाऊसाहब भुस्कुटे स्मृति लोक न्यास की संकल्पना "मेरा गाँव मेरा तीर्थ " एवं जल शक्ति अभियान के अंतर्गत ग्राम पथरकुही में ग्रामीण जानो एवं कृषि विज्ञानं केंद्र गोविंदनगर में ग्रामीण कृषि अनुभव कार्य (RAWE) के लिए आये रविंद्रनाथ टैगोर एवं मध्यांचल विश्वविद्यालय भोपाल के छात्रों के सहयोग से बोरी बंधान कार्य किया गया |

प्राकृतिक खेती कार्यशाला